पोस्ट

नवंबर, 2019 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

किसान कल्ब

इमेज
किसान_कल्ब केंद्रीय कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय (Union Ministry of Agriculture and Farmers Welfare) के अनुसार 31 अक्तूबर, 2019 तक विभिन्न राज्यों/केंद्रशासित प्रदेशों में लगभग 24,321 सक्रिय किसान क्लब (Farmers Clubs) मौजूद थे। नाबार्ड का एक अनौपचारिक मंच फार्मर्स क्लब, नेशनल बैंक फॉर एग्रीकल्चर एंड रूरल डेवलपमेंट (National Bank for Agriculture and Rural Development- NABARD) का एक अनौपचारिक मंच है। पृष्ठभूमि 5 नवंबर, 1982 को नाबार्ड को राष्ट्र को समर्पित करते हुए भारत के तत्कालीन प्रधानमंत्री ने ‘क्रेडिट के माध्यम से विकास’ के पाँच सिद्धांतों’ को प्रचारित करने के लिये ‘विकास स्वयंसेवक वाहिनी’ (Vikas Volunteer Vahini-VVV) कार्यक्रम शुरू किया। वर्ष 2005 में VVV कार्यक्रम को किसान क्लब कार्यक्रम (FCP) के रूप में नामांकित किया गया। क्या है किसान क्लब? किसान क्लब गाँव में किसानों का ज़मीनी स्तर का एक अनौपचारिक मंच है। बैंकों और किसानों के पारस्परिक लाभ के लिये नाबार्ड के समर्थन एवं वित्तीय सहायता के साथ बैंकों की ग्रामीण शाखाओं द्वारा इस तरह के क्लबों का आयोजन किया जाता है। उद्देश्य: इन्हें

General Science Most Important Questions & Answer

🔹सोडियम और पोटेशियम धातु जो बहुत अभिक्रियाशील होती हैं कहां रखी जाती हैं – मिट्टी के तेल मे 🔹धमनियों का मुख्य कार्य क्या है – ऑक्सीजनेटेड रक्त ह्रदय से शरीर के विभिन्न हिस्सों में ले जाना 🔹ठंडी हवा जो भूमि से समुद्र की ओर चलती है क्या कहलाती है – थल समीर 🔹कौन-से ग्रह पूर्व से पश्चिम की ओर परिक्रमा करते हैं – शुक्र और अरुण 🔹एक बल्ब में एक पतला तार होता है, जो जलता है जब उसमें धारा का प्रवाह होता है, इसे क्या कहते – फिलामेंट 🔹वह लघुत्तम समय अंतराल जिसे सामान्य रूप से उपलब्ध घड़ियों से मापा जा सकता है – एक सेकंड 🔹6 से 8 साल की उम्र के बीच बच्चों के जो दांत गिरते हैं उन्हें क्या कहा जाता है – दूध के दांत 🔹पेरिस्कोप में किस दर्पण का प्रयोग होता है – समतल दर्पण का 🔹घास में मौजूद एक विशेष प्रकार का कार्बोहाइड्रेट जिसे मानव द्वारा पचाया नहीं जा सकता , क्या कहलाता है – सेल्यूलोस 🔹मौसम के पूर्वानुमान हेतु किसका प्रयोग किया जाता है – अधिकतम न्यूनतम तापमापी का 🔹सूरज की ऊष्मा हम तक इस प्रक्रिया के द्वारा पहुंचती है – विकिरण 🔹पुलों और गाड़ियों के निर्माण में इस्तेमाल होने वाले लोहे को मज

भारत की महत्वपूर्ण नदियां | Important Rivers of India

इमेज
भारत की महत्वपूर्ण नदियां Important Question Answer  किस नदी को ‘ तेल नदी ’ कहा जाता है— नाइजर को  किस नदी को ‘यू रोपीय व्यापार कीजीवन रेखा ’ कहाजाता है— राइन नदी  बंग्लादेश में किस नदी को पद्मा के नाम से जाना जाता है— गंगा नदी  रूस की सबसे महत्वपूर्ण नदी कौन सी है— वोल्गा  जल के आयतन के आधार पर विश्व की सबसे बड़ी नदी कौन-सी है— अमेजन नदी  यूरोप महाद्वीप की स बसे बड़ी नदी कौन-सी है— वोल्गानदी  वोल्गा नदी कहाँ गिरती है— कैस्पियन सागर में  कौन-सी नदी भ्रंश घाटी से होकर बहती है— वोल्गा नदी  किस सभ्यता को ‘ नील नदी का वरदान ’ कहा जाता है—मिस्त्र की सभ्यताको  यूरोप की कौन-सी नदी ‘ कोयलानदी ’ के नाम से जानीजाती है— राइन नदी  कौन-सी नदी भूमध्य रेखा   को दो बार काटती है— कांगोनदी  किस नदी का उद्गम स्थल भूमध्य रेखा के निकट से होता है—नील नदी  विश्व की सबसे अधिक विश्वासघाती नदी किसे कहाजाता है— ह्वांग होनदी को  कौन-सी नदी मकर रेखा को दो बार काटती  है—लिम्पोपो लाल नदी किस देश से होकर बहती है— वियतनामस  मरे-डार्लिग नदी कहाँ बहती है— ऑस्ट्रेलिया में  किस नदी को ‘ चीन का शोक ’ कहा जाता है— ह

पंचवर्षीय योजनाओं में प्राथमिकता के प्रमुख क्षेत्र

इमेज
1 पंचवर्षीय योजना (1951-56) उत्तर -कृषि की प्राथमिकता। 2 पंचवर्षीय योजना (1956-61) उत्तर-उद्योग क्षेत्र की प्राथमिकता। 3 पंचवर्षीय योजना (1961-66) उत्तर - कृषि और उद्योग। 4 पंचवर्षीय योजना (1969-74) उत्तर -न्याय के साथ गरीबी के विकास को हटाया। 5 वीं पंचवर्षीय योजना (1974-79) उत्तर -गरीबी और आत्म निर्भरता को हटाया। 6 पंचवर्षीय योजना (1980-85) उत्तर - 5 वीं योजना के रूप में ही जोर दिया। 7 वीं पंचवर्षीय योजना (1985-90) उत्तर -फूड प्रोडक्शन, रोजगार, उत्पादकता 8 वीं पंचवर्षीय योजना (1992-97) उत्तर -रोजगार सृजन, जनसंख्या का नियंत्रण। 9 वीं पंचवर्षीय योजना (1997-02) उत्तर -7 प्रतिशत की विकास दर. 10 वीं पंचवर्षीय योजना (2002-07) उत्तर - स्व रोजगार और संसाधनों का विकास। 11 वीं पंचवर्षीय योजना (2007-12) उत्तर - व्यापक और तेजी से विकास। 12 वीं पंचवर्षीय योजना (2012-17) उत्तर -स्वास्थ्य, शिक्षा और स्वच्छता {समग्र विकास} का सुधार।

विश्व के प्रमुख संगठन और उनके मुख्यालय

इमेज
1. रेडक्रॉस – जेनेवा 2. इंटरपोल (INTERPOL) – पेरिस (लेओंस) 3. एशियाई विकास बैंक (ADB) – मनीला 4. विश्व वन्य जीव संरक्षण कोष (WWF) – ग्लांड(स्विट्ज़रलैंड) 5. नाटो (NATO) – ब्रुसेल्स 6. अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय – हेग 7. यूनिसेफ – न्यूयॉर्क 8. सार्क (SAARC) – काठमाण्डु 9. संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम (UNEP) – नैरोबी 10. गैट (GATT) – जेनेवा 11. विश्व व्यापार संगठन (WTO) – जेनेवा 12. अमरीकी राज्यों का संगठन (OAS) – वाशिंगटन डी. सी. 13. अरब लीग – काहिरा 14. परस्पर आर्थिक सहायता परिषद् (COMECON) – मास्को 15. वर्ल्ड काउंसिल ऑफ़ चर्चेज (WCC) – जेनेवा 16. यूरोपीय ऊर्जा आयोग (EEC) – जेनेवा 17. अफ़्रीकी आर्थिक आयोग (ECA) – आदिस-अबाबा 18. यूरोपीय मुक्त व्यापार संघ (ECTA) – जेनेवा 19. संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी उच्चायोग (UNHCR) – जेनेवा 20. अंतर्राष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी (IAEA) – वियना 21. पश्चिमी एशिया आर्थिक आयोग (ECWA) – बगदाद 22. संयुक्त राष्ट्र व्यापार एवं विकास सम्मलेन (UNCTAD) – जेनेवा 23. एमनेस्टी इंटरनेशनल – लंदन 24. अंतर्राष्ट्रीय ओलम्पिक कमिटी (IOC) – लुसाने 25. यूरोपीय कॉमन मार्के

राजस्थान मंत्रिमंडल और मंत्रियों के विभाग

1. अशोक गहलोत , मुख्यमंत्री : वित्त, आबकारी, आयोजना, नीति आयोजन, कार्मिक, सामान्य प्रशासन, राजस्थान राज्य अन्वेषण ब्यूरो, सूचना प्रौद्योगिकी एवं संचार विभाग, गृह मामलात और न्याय विभाग। 2. सचिन पायलट, उपमुख्यमंत्री : सार्वजनिक निर्माण, ग्रामीण विकास, पंचायती राज, विज्ञान व प्रौद्योगिकी और सांख्यिकी। कैबिनेट मंत्री 3. बीडी कल्ला : ऊर्जा, जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी, भू-जल, कला, साहित्य, संस्कृति और पुरातत्व 4. शांति कुमार धारीवाल : स्वायत्त शासन, नगरीय विकास एवं आवासन, विधि एवं विधिक कार्य और विधि परामर्शी कार्यालय, संसदीय मामलात 5. परसादी लाल : उद्योग और राजकीय उपक्रम 6. मास्टर भंवरलाल मेघवाल : सामाजिक न्याय—अधिकारिता, आपदा प्रबंधन एवं सहायता 7. लालचंद कटारिया : कृषि, पशुपालन एवं मत्स्य 8. रघु शर्मा : चिकित्सा एवं स्वास्थ्य, आयुर्वेद एवं भारतीय चिकित्सा, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवाएं (ईएसआई) और सूचना व जनसंपर्क 9. प्रमोद भाया : खान, गोपालन 10. विश्वेंद्र सिंह : पर्यटन, देवस्थान 11. हरीश चौधरी : राजस्व, उपनिवेशन, कृषि सिंचित क्षेत्रीय विकास एवं जल उपयोगिता 12. रमेश चंद मीणा : खाद्य एवं नाग

राजस्थान के प्रमुख महोत्सव | Major festivals of Rajasthan

इमेज
1.                   ऊँट महोत्सव   बीकानेर 2.                   मारवाड महोत्सव   जोधपुर 3.                   पतंग महोत्सव   जैसलमेर 4.                   मरू महोत्सव   जैसलमेर 5.                   थार महोत्सव   बाडमेर 6.                   बैलून महोत्सव   बाडमेर 7.                   मेवाड महोत्सव   उदयपुर 8.                   बेणेश्वर महोत्सव   डूँगरपुर 9.                   माही महोत्सव   बांसवाडा 10.               मीरा महोत्सव   चितौडगढ 11.               मत्स्य महोत्सव   अलवर 12.               हाथी महोत्सव   जयपुर 13.               समर महोत्सव   जयपुर 14.               कत्थक महोत्सव   जयपुर राजस्थान के जिले - बीकानेर | Districts of Rajasthan - Bikaner https://www.onlygkzone.com/2020/01/Districts-of-Rajasthan-Bikaner.html

IAS प्रारंभिक परीक्षा 2019 की 150 दिनों में तैयारी कैसे करें?बाकी बचे हुवे समय का उपयोग कैसे करें?:

 भारत में सबसे लोकप्रिय और सबसे कठिन समझी जाने जानी वाली UPSC CSE (UPSC सिविल सर्विसेज परीक्षा) अब कुछ महीने ही दूर रह गई है। सभी अभ्यर्थियों ने इस परीक्षा के लिए अपनी कमर कस ली होगी इसका हमें यकीन है। लाखों उम्मीदवार हर साल परिश्रम पूर्वक तैयारी करके इस परीक्षा में उम्मीद के साथ बैठते है पर जाहिर है सफलता तो निर्धारित पद के तहत कुछ लोगों के ही हाथ लगनी है। सफल वही होगा जिसकी परीक्षा के लिए रणनीति एकदम सटीक होती है। सटीक रणनीति के लिए आवश्यक है कि आपको निर्देशन सही मिले। आज हम आपको बताएँगे कि बचे 150 दिन के लिए अभ्यर्थी को किस रणनीति के तहत अपनी तैयारी जारी रखनी चाहिए। जैसा की आपको ज्ञात ही होगा की IAS प्रीलिम्स 2019 की परीक्षा 02 जून 2019 को निर्धारित की गई है। हमें विश्वास है कि अब तक आपकी लगभग तैयारी हो चुकी होगी। अब बस आपको मार्गदर्शन की आवश्यकता है कि इन बचे 150 दिन की तैयारी में क्या रणनीति अपनाएँ? जिससे की आपका ध्यान केन्द्रित रहे और आपका आत्मविश्वास बढ़े। जाहिर है जब अभ्यास, ज्ञान और आत्मविश्वास बढ़ जाता है तो सफलता पाने में देर नहीं लगती। IAS प्रारंभिक परीक्षा 2019 हेतु 150 दिन

सफलता की कहानी (AIR 1 IAS)

मैं बहुत ख़ुश हूं और आगे जो ज़िम्मेदारी मेरा इंतज़ार कर रही है उससे वाक़िफ़ हूं I रैंक से ज़्यादा बड़ी वो ज़िम्मेदारी है जो मेरे आगे है I मैं अपने परिजनों, दोस्तों और अध्यापकों का  शुक्रिया करता हूं जिन्होंने मेरा साथ दिया I मैं आज यहां सिर्फ़ अपनी मेहनत के दम पर पहुंचा हूं I मेहनत का कोई विकल्प नहीं I हम जो भी करें, चाहें परीक्षा दे रहे हों या कोई खेल खेल रहे हों, हमारा लक्ष्य हमेशा उत्कृष्टता हासिल करना होना चाहिए I मैंने यही अपने पिता से सीखा और परीक्षा की तैयारी में इसे लागू किया I मेरा हमेशा इतिहास पढ़ने का शौक़ रहा है I अमरीका के राष्ट्रपति रहे महान नेता अब्राहम लिंकन के व्यक्तित्व से मैं सबसे ज़्यादा प्रभावित हूं I अब्राहम लिंकन हमेशा से मेरी प्रेरणा का स्रोत रहे I वो एक महान नेता का उदाहरण हैं I बेहद मुश्किल हालातों में चुनौतियों का सामना करते हुए उन्होंने अपने देश का नेतृत्व किया I मैं हमेशा उनसे प्रेरणा लेता हूं I ये बेहद मुश्किल परीक्षा होती है क्योंकि बहुत से क़ाबिल लोग इसके लिए तैयारी करते हैं I आज भी बहुत से क़ाबिल लोगों का नाम चुने गए उम्मीदवारों की सूची में है I आप कितन