राजस्थान का एकीकरण के महत्वपूर्ण तथ्य | Important facts of the integration of Rajasthan

राजस्थान-का-एकीकरण-के-महत्वपूर्ण-तथ्य

 
  1. एकीकरण से पुर्व राजस्थान में केन्द्र शासित प्रदेश- अजमेर- मेरवाडा
  2. सबसे प्राचीन रियासत - उदयपुर/मेवाड़
  3. सबसे नवीन रियासत - झालावाड़
  4. क्षेत्रफल की दृष्टि से सबसे बड़ी रियासत- जोधपुर(मारवाड)
  5. क्षेत्रफल की दृष्टि से सबसे छोटी रियासत- शाहपुरा
  6. जनसंख्या की दृष्टि से सबसे बड़ी रियासत- जयपुर
  7. जनसंख्या की दृष्टि से सबसे छोटी रियासत- शाहपुरा
  8. अंग्रेजों के साथ संधि करने वाली राजस्थान की प्रथम रियासत- करौली(15 नवंम्बर, 1817 में)
  9. अंग्रेजों के साथ संधि करने वाली राजस्थान की द्वितीय रियासत- कोटा(दिसम्बंर, 1817 में)
  10. अंग्रेजों के साथ संधि करने वाली राजस्थान की अन्तिम रियासत- सिरोही(सितंम्बर, 1823 में)
  11. शिकार एक्ट घोषित करने वाली राजस्थान की प्रथम रियासत-टोंक(1901 में)
  12. डाक टिकट व पोस्टकार्ड जारी करने वाली प्रथम रियासत- जयपुर(1904 में)
  13. जयपुर में माधोसिंह द्वितीय के द्वारा डाक टिकट व पोस्टकार्ड जारी किये गये।
  14. वन्य जीवों की सुरक्षा के लिए कानुन बनाने वाली प्रथम रियासत-जोधपुर(1910 में)
  15. वन्य अधिनियम पारित करने वाली प्रथम रियासत- अलवर 1935 में
  16. शिक्षा पर प्रतिबन्ध लगाने वाली प्रथम रियासत- डुंगरपुर
  17. जनतांत्रिक व पूर्ण उत्तरदायी शासक की स्थापना करने वाली प्रथम रियासत- शाहपुरा
  18. जनतांत्रिक व पूर्ण उत्तरदायी शासक की स्थापना न करने वाली रियासत-जैसलमेर